सफलता नहीं किसी के बाप की जागीर !!!!

में मुश्किलों से सदा ही भागता रहा ,
यह जान के भी की मुश्किलें मिलेंगे हर सदा ,
मुश्किलों से मुझे पड़ेगा ही झगड़ना ,
गर स्वाद जीत का है मुझे चखना ,
तुम न हरो हिम्मत सुनो ऐ राहगीर ,
सफलता नहीं किसी के बाप की जागीर .
कल थी उसे मिली तो आज है इसे मिली ,
अपना भी नंबर आएगा कभी न कभी ,
करोगे कोशिश जो जीतोड़ मेहनत से ,
सफलता कदाचित न भाग पायेगी तुम से,

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s